Connect with us

Astrology

How to Make Tithi Pravesh chart with Example calculation

Published

on

Tithi pravesh chart _ vaidik Birth Date

हम सभी अपने जन्म दिन को मनाते है लेकीन क्या आपको यह पता है की यह जन्मदिन हमारे शास्त्रोक्त नहीं है| आज के इस लेख में हम आपको शास्त्रोक्त और ज्योतिष के आधर पर कब हमारा जन्मदिन होता है और उस दिन बनी हुई पत्रिका Tithi Pravesh chart को कैसे बनाया जाता है उस पर लेख प्रदान करेंगे|

what is the Tithi Pravesh chart in Astrology?

ज्योतिष में चन्द्र को मन का कारक माना जाता है| जो तिथि को दर्शाता है| वेसी ही सूर्य को पिता का कारक माना जाता है| जिससे कैलेंडर में तारीख बनती है| वैदिक रूप से वार्षिक जन्म दिनांक (Yearly Birth Date) निकालने के लिए सूर्य और चन्द्र दोनो की आवश्यकता होती है| और उसी दिन जो भी पत्रिका बनती है वह तिथि प्रवेश पत्रिका(Tithi Pravesh chart in Astrology) कही जाती है| इस पत्रिका से साल में जो भी घटनाओं घटने वाली है उसका अंदाजा लगाया जा सकता है|

किसी भी व्यक्ति की जन्म पत्रिका में जब कोई घटना घटने वाली दिख रही हो उसे इस पत्रिका में अवश्य वेरीफाई करनी चाहिए| इससे हमें सही अंदाजा मिल सकता है की घटना कब और कैसे बन सकती है|

तिथि प्रवेश पत्रिका की गणना कैसे की जाती है(How to Calculate Tithi Pravesh chart)

तिथि प्रवेश पत्रिका को निकलने के लिए सही जन्म दिनांक, जन्म स्थल और समय होना आवश्यक है| आपका जन्म जिस भी दिन हुआ हो उस समय सूर्य जिस भी राशी में हो, हर साल उसी राशि में जब भी सूर्य आएगा तब आपका शास्त्रोक जन्म दिन आएगा| अगर आपकी जन्म पत्रिका में सूर्य कन्या राशि में है तो हर साल जब सूर्य कन्या राशि में आएगा तब आपका जन्म दिन आएगा| उस पुरे माह में से दिन कोनसा होगा यह चंद्र तय करेगा|

अगर आपके जन्म के सामय शुक्लपक्ष की पञ्चमीं तिथि है| तब जब भी सूर्य कन्या राशी में हो और शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि आये तब आपका शास्त्रोक्त जन्म दिन(Vaidik Date of Birth/ Tithi pravesh Birth Date) होता है| उस दिन पर बने हुए Birth chart से आने वाले एक साल की सभी भविष्य वाणी की जा सकती है|

किसी भी पत्रिका के लिए समय होना आवश्यक है| तिथि प्रवेश कुंडली का समय निकालने के लिए भी तिथि का सहारा लेना होता है| अगर आपके जन्म के समय जो भी तिथि जीतनी पूर्ण हुई हो उस पर से समय को तह किया जाता है| अगर जन्म के समय शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि 34% बाकी थी| तो हर साल जब सूर्य कन्या राशि में आये और शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि जब 34% बाकी रहे उस समय जो पत्रिका बनती है उसे तिथि प्रवेश पत्रिका कहते है|

Example calculation of तिथि प्रवेश पत्रिका

यहाँ पर दिए गए उदहारण में जातक की जन्म तारीख 6 दिसम्बर 1992 है| समय शाम के 8 बजकर 45 मिनिट है| और स्थल ahmedabad है| इस दिन सूर्य वृश्चिक राशि में स्थित था| शुक्लपक्ष की द्वादशी तिथि थी| यह तिथि जन्म के समय अभी 42.38% शेष थी|

इसी पर से अगर हम इस जातक का 2021 का vaidik Date of Birth और Tithi Pravesh Chart निकाले तो कुछ इस प्रकार होता है|

सूर्य 16 नवम्बर से 15 दिसम्बर तक वृश्चिक राशि में रहता है| 2020 में शुक्लपक्ष की द्वादशी इसी दिनांक के बिच जब सूर्य वृश्चिक में है तब 26 नवम्बर को आती है| 05:10 AM से शुरू होकर 27 नवम्बर के सुबह 7 बजकर 46 मिनिट पर द्वादशी तिथि पूर्ण होती है| और शाम के 8 बजकर 30 मिनट पर यह तिथि पूर्ण 42.38% शेष रहती है|

इसी लिए Vaidik Date of Birth 26 नवम्बर 2020 को आता है| और Tithi Pravesh chart उसी दिन रात्री के 8 बजकर 30 पर जो भी chart बनता है वह कहलाता है| इसी chart से आने वाले भविष्य के बारे में पुरे एक साल तक एनालिसिस किया जा सकता है|

Tithi Pravesh chart Calculator

अगर आपक भी अपना vaidik Date of Birth निकलना चाहते है या तिथि प्रवेश kundli निकालना चाहते है तो आपके लिए हम इसे फ्री में लेकर आये है| Tithi Pravesh chart Calculator पर क्लिक करे और अपना फॉर्म भरे| इससे हम आपको आपका आने वाला vaidik Birth date कब होगा उस दिन आपको क्या करना चाहिए| जिससे आने वाले वर्ष आपको अच्छे फल मिले|

  • Tithi Pravesh chart Calculator के लिए यहाँ क्लिक करे

निष्कर्ष

हमें आशा है की आपको हमारे द्वारा Tithi Pravesh chart के और vaidik Date of Birth के बारे में जो भी इनफार्मेशन दी गयी है उसे पसंद आयी होगी| अगर आप यहाँ पर दिए गए इनफार्मेशन से संतुष्ट और Tithi Pravesh chart Calculator का उपयोग करना चाहते है तो ऊपर दी गयी लिंक पर क्लिक करे| यह एकदम फ्री है|

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Panchang

Categories

Facebook

Advertisement

Trending